technology will improve the future
Subscription Form

Have a question, comment, or concern? Our dedicated team of experts is ready to hear and assist you. Reach us through our social media, phone, or live chat.

RBI start offline digital payments soon

offline digital payments

बिना इंटरनेट कनेक्टिविटी के भी कर सकेंगे डिजिटल ट्रांजेक्शन, जानिए कितनी होगी लिमिट

ऑफलाइन पेमेंट (Offline Payment) एक ऐसे ट्रांजेक्शन को कह सकते हैं, जिसके लिए इंटरनेट या टेलीकॉम कनेक्टिविटी की जरूरत नहीं होती है। RBI के अनुसार, ऐसे ऑफलाइन डिजिटल पेमेंट को अपनाने के लिए अधिकृत पेमेंट सिस्टम ऑपरेटर्स (PSO) और पेमेंट सिस्टम पार्टिसिपेंट (PSP) को नए गाइडलाइन का पालन करना होगा।

बिना इंटरनेट पैसे होंगे ट्रांसफर

(मोबाइल नेटवर्क की भी नहीं होगी जरूरत)

  • रिजर्व बैंक (RBI) ने डिजिटल पेमेंट (Digital Payment) को बढ़ावा देने के लिए हाल ही में एक पायलट प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया था। आरबीआई के इस प्रोजेक्ट के जरिए बिना इंटरनेट के पैसे ट्रांजेक्शन कर सकेंगे।
  • ऑफलाइन पेमेंट (Offline Payment) के लिए इंटरनेट कनेक्टिविटी या टेलीकॉम की जरूरत नहीं पड़ेगी।रिजर्व बैंक ने ऐसे ट्रांजेक्शन के लिए 200 रुपये की अपर लिमिट तय की है।
  • यानी इसके तहत 200 रुपये तक के ऑफलाइन ट्रांजेक्शन (Offline Digital Transaction) की अनुमति दी गई है। इसमें अधिकतम 10 ट्रांजैक्शन यानी कुल 2,000 रुपये तक का ऑफलाइन ट्रांजैक्शन करने की इजाजत होगी।
  • आरबीआई ने कहा कि एक समय में ज्यादा से ज्यादा 2000 रुपए तक का पेमेंट इस तरीके से किया जा सकेगा। लिमिट खत्म होने पर ऑनलाइन के जरिए इसको बढ़ाया जा सकता है।
  • एक ऑफलाइन डिजिटल ट्रांजेक्शन (Offline Digital Transaction) एक ऐसा लेनदेन है जिसमें इंटरनेट या कनेक्टिविटी की जरूरत नहीं होती है। ऑफलाइन मोड के तहत, भुगतान किसी भी चैनल या माध्यम जैसे कार्ड, वॉलेट और मोबाइल एप शेयरिंग का उपयोग करके आमने-सामने (Proximity mode) किया जा सकता है।

टेस्टिंग के बाद दी गई मंजूरी

इस तरह का पेमेंट सिर्फ आमने-सामने रहकर ही किया जा सकेगा। ऑफलाइन मोड में छोटे डिजिटल ट्रांजेक्शन (Digital Transaction) को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई ने सबसे पहले कुछ निकायों के साथ सितंबर 2020 से जुलाई 2021 के दौरान टेस्टिंग किया था। इसके बाद आरबीआई ने 6 अगस्त को इससे जुड़ी पायलट स्कीम को मंजूरी दी थी।

एसएमएस या मेल पर मिलेगा अलर्ट 

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कहा कि इस तरह के लेनदेन के लिए किसी दूसरे ऑथेंटिकेशन (Additional factor of authentication (AFA)) की जरूरत नहीं होगी। अर्थात भुगतान करते वक्त CV नंबर या OTP डालने की  आवश्यवकता नहीं होंगी, चूंकि ये ट्रांजेक्शन ऑफलाइन है, तो  ग्राहक को अलर्ट एसएमएस या ई-मेल के माध्यम से मिलेगा।

जब ग्राहक का डिवाइस ऑनलाइन व नेटवर्क जोन में आएगा।

आरबीआई ने कहा, “200 रुपये तक के इस ट्रांजैक्शन में अधिकतम 2000 रूपये तक  भुगतान कर सकेंगे। बची हुई राशि की पूर्ति केवल ऑनलाइन मोड में हो सकेगी।

ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ेगा डिजिटल लेन-देन

गांवों और कस्बों में डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए आरबीआई ने ऑफलाइन डिजिटल पेमेंट्स को लेकर एक रूपरेखा जारी की। रिजर्व बैंक के इस कदम से ग्रामीण क्षेत्रों में डिजिटल पेमेंट में तेजी आने की उम्मीद है।

Share this article
Shareable URL
Prev Post

इंटेल चिप अब भारत में बनेगी : भारत में सेमीकंडक्टर यूनिट लगाने की तैयारी में Intel

Next Post

The semiconductor industry in India

Comments 22
  1. Looking forward to reading more. great article. Really looking forward to reading more books. cool. I really enjoy reading a thought provoking article. Also, thanks for allowing me to comment!

  2. Thank you for another excellent article. Where else could anybody get that kind of info in such a perfect way of writing? I’ve a presentation next week, and I am on the look for such info.

  3. I am often to blogging and i really appreciate your content. The article has really peaks my interest. I am going to bookmark your site and keep checking for new information.

  4. I have learn a few good stuff here. Definitely value bookmarking for revisiting. I wonder how much effort you set to create this kind of wonderful informative web site.

  5. whoah this weblog is excellent i really like studying your articles. Keep up the great work! You know, many persons are searching round for this info, you can aid them greatly.

  6. Everything is very open and very clear explanation of issues. was truly information. Your website is very useful. Thanks for sharing.

  7. I have been surfing on-line more than three hours as of late, but I by no means discovered any fascinating article like yours. It is beautiful value enough for me. In my opinion, if all website owners and bloggers made just right content material as you did, the net might be much more useful than ever before.

  8. Its such as you learn my thoughts! You appear to know so much about this, such as you wrote the ebook in it or something. I believe that you just could do with some to force the message home a little bit, but other than that, this is magnificent blog. An excellent read. I’ll definitely be back.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

Computer Network?

Computer Network is used to share resources, exchange files or allow communication. It is anything where two or…
What is Computer Network?

What is Malware? : Types and Effects of Malware.

Malware :- यह  एक तरह  का सॉफ्टवेयर ही है जिसे हम "malicious  सॉफ्टवेयर" भी  कहते है।  इसका मुख्य काम सिस्टम व…
Types of Malware