Govt of India bans 20 YouTube channels

नए IT क़ानून के तहत 20 YouTube चैनल बैन

भारत सरकार ने देश विरोधी प्रोपोगैंडा फैलाने वाले 20 Youtube चैनलों पर बैन लगा दिया है। 20 यूट्यूब चैनल के अलावा दो वेबसाइट पर भी प्रतिबंध किया गया है। रिपोर्ट के मुताबिक ये सभी 20 यूट्यूब चैनल पाकिस्तान से संचालित होते थे और दो वेबसाइट को भी पाकिस्तान से ही ऑपरेट किया जा रहा था।

पहली बार आईटी ऐक्ट में हाल ही में शामिल की गई गाइडलाइंस के आधार पर इन पर बैन लगाया गया है।     

गूगल के स्वामित्व वाले वीडियो स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब ने बड़ी कार्यवाही करते हुए भारत विरोधी प्रोपोगैंडा फैलाने वाले 20 Youtube चैनलों और दो वेबसाइट पर बैन लगाया है। यूट्यूब ने यह कार्यवाही भारत सरकार के सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के एक आदेश के बाद की है।  

सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘चैनल और वेबसाइट पाकिस्तान से संचालित एक समन्वित दुष्प्रचार नेटवर्क से संबंधित हैं तथा भारत से संबंधित विभिन्न संवेदनशील विषयों के बारे में फर्जी खबरें फैला रहे हैं.’

आपकी जानकारी के लिए बात दें कि आईटी एक्ट 2021 के तहत यह पहली बड़ी कार्यवाही हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक ये सभी 20 यूट्यूब चैनल पाकिस्तान से संचालित होते थे और दो वेबसाइट को भी पाकिस्तान से ही ऑपरेट किया जा रहा था।  

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय और टेलीकॉम विभाग के अधिकारियों के मुताबिक इन चैनल और वेबसाइट को पाकिस्तान की इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस की मदद से भारत विरोधी प्रोपोगैंडा फैलाया जा रहा था।

अधिकारियों ने बताया कि इन चैनल में एक ‘नया पाकिस्तान’ के नाम से भी था जिसके करीब दो मिलियन सब्सक्राइबर्स थे। और इनके कॉन्टेंट को भारत में 500 मिलियन से भी ज्यादा बार देखा जा चुका था। ये चैनल कृषि कानूनों के खिलाफ और अयोध्या से लेकर कश्मीर तक को लेकर फर्जी खबरें चला रहे थे।  इन चैनल का इस्तेमाल ‘कश्मीर, भारतीय सेना, भारत में अल्पसंख्यक समुदायों, राम मंदिर, जनरल बिपिन रावत आदि’ जैसे विषयों पर समन्वित तरीके से विभाजनकारी सामग्री पोस्ट करने के लिए किया जा रहा है।

बयान में कहा गया है कि भारत विरोधी दुष्प्रचार में पाकिस्तान से संचालित नया पाकिस्तान समूह (एनपीजी) शामिल है, जिसके पास विभिन्न Youtube चैनल का एक नेटवर्क है। इसमें कहा गया कि कुछ अन्य यूट्यूब चैनल भी हैं जो एनपीजी से संबंधित नहीं हैं। इसमें कहा गया, ‘खुफिया एजेंसियों तथा सूचना और प्रसारण मंत्रालय के बीच एक समन्वित प्रयास में, मंत्रालय ने इंटरनेट पर भारत विरोधी दुष्प्रचार और फर्जी खबरें फैला रहे 20 यूट्यूब चैनल तथा दो वेबसाइट को बैन किया।

Share this article
0
Share
Shareable URL
Prev Post

What is Cloud Computing?

Next Post

इंटेल चिप अब भारत में बनेगी : भारत में सेमीकंडक्टर यूनिट लगाने की तैयारी में Intel

Comments 1
Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Read next

What is e-RUPI and how does it work ? What are its benefits?

e-RUPI एक प्रीपेड ई-वाउचर है। ई-रूपी एक कैशलेस और कोन्टक्टलेस डिजिटल पेमेंट्स सिस्टम मीडियम है। यह एक क्यूआर कोड…
What is e-RUPI ?